Service News – 15th August – Independent Day Celebration

ब्रह्माकुमारीज जामनगर द्वारा 15 अगस्त, स्वतंत्रता दिन का celebration किया गया। उस दिन जामनगर सेवा केन्द्र की संचालिका बी.के सुष्मा द्वारा defense मे सेवा करनेवाले भाईओ का स्वागत ओर सम्मान फुलो के हार से एवमं टोली ओर ईश्वरीय सोगात देकर किया गया था। सभी बी.के भाई-बहनो ने candle जलाकर जो शहीद हुवे उनको तीन मिनिट श्रद्धाजंली दी। फिर राष्ट्रीय गीत भी सभीने गाया।

बी.के लीरी बहन माडम सभी बी.के भाई-बहनो को संबोधित करते हुवे कहाँ कि हमे अपने पांच विकारो से स्वतंत्र होना ओर हरेक ब्राह्मण प्लास्टिक का use ना करे, कम से कम एक वृक्ष तो जरूर लगाये ओर भारत को स्वच्छ बनाये।

Jamnagar Program Photos

BK Shivani bahn’s Program at Reliance Company – Jamnagar

जामनगर की रीलायन्स इन्डस्ट्रीज लिमिटेड जो की विश्व की एक स्थान पर सबसे बडी प्रेट्रोलियम रीफानरी है। उनके द्वारा बी.के शिवानी बहन को प्रेरणादायक संबोधन के लिए आमंत्रित किया गया था। जिसका मुख्य लक्ष्य कर्मचारीयो मे कैसे संतुष्टता, खुशी और आपसी संबंधो मे समरसता बढाई जाये।
बी.के. शिवानी बहन ने रीलायन्स ओर उनकी टाउनशीप के बारे मे कहाँ कि बहार से तो आप स्वर्ग के अंदर रह रहे है। इतनी सब सुख-सुविधा, साधन सम्पन्न है लेकिन परिवर्तन की आवश्यकता हमारे आंतरिक मन को है। स्वर्ग के अंदर देवी-देवता के कोई साधारण बोल, कर्म नहि होता। उनका जो भी कर्म, बोल होता है वो विशेष होता है। बी.के शिवानी बहन ने कहाँ कि अपने द्रष्टिकोण को परिवर्तन कर कैसे अपने साधारण संस्कारो को सतयुगी संस्कार बनाया जाये। उसके लिए राजयोग मेडिटेशन को सीखने के लिए सब को प्रेरणाये दी। आगे शिवानी बहन ने कहाँ कि अपनी कंपनी को Anger Free Zone बनाये उसके लिए आपको पहले Silence zone बनाना है।
Famous film actor भ्राता सुरेशभाई ओबेरोय ने भी अपना अनुभव सुनाया कि कैसे राजयोग मेडिटेशन के अभ्यास से उनके जीवन मे सकारात्मक परिवर्तन आया।

जामनगर और द्वारका जिल्ला की सेन्टर की संचालिका बी.के. सुष्मा बहन ने सभी को राजयोग मेडिटेशन कोर्ष करने के लिए सेन्टर पर आमंत्रित किया जो समय उनको suitable हो।

Rajyoga Shivir

संसार का हर मनुष्य सुख–शांति की तलाश में रोज मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरूद्वारे में गुहार लगा रहा है। पूजा, पाठ, आरती, व्रत, उपवास, तीर्थ आदि धक्के खा खाकर इंसान थक गया है लेकिन सुख शांति आज भी कोसों दूर है.. बल्कि दुख, अशांति बढ़ती जा रही है, इसका एकमात्र कारण है देह अभिमान में वृद्धि होना और इन सब समस्याओं का एकमात्र निवारण और सुख, शान्ति का एकमात्र रास्ता स्व आत्मा का ज्ञान और परमात्मा की सही पहचान । इसी सत्य ईश्वरीय ज्ञान से और ईश्वर प्रदत्त राजयोग मेडिटेशन से सच्ची सुख, शान्ति का खजाना सहज ही मिल जाता है और सारा जीवन तनाव मुक्त होकर खुशहाल हो जाता है।”

जिसमें प्रात: 10 से 12 एवं संध्या 5 से8 बजे तक राजयोग मेडिटेशन का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जायेगा